अमेरिका की एक चाल से बेहाल हुआ चीन और फंस गया पाकिस्तान

नई दिल्ली: चीन के वुहान के चले कोरोना के जानलेवा विषाणु से दुनियाभर में हाहाकार मचा है। इस महामारी की चपेट में आने से दुनियाभर में तकरीबन 57 लाख बीमार हो चुके हैं, जबकि 3.55 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। कोरोना वायरस का कहर सबसे ज्यादा अमेरिका पर टूटा है। अमेरिका में कोरोना वायरस की चपेट में अबतक 17.5 लाख से ज्यादा लोग आज चुके हैं जबकि मरने वालों की संख्या भी एक लाख से ज्यादा हो गई है। लिहाजा अमेरिका में चीन के खिलाफ गुस्सा सातवें आसमान पर है। अमेरिका समेत दुनिया के कई देश इस महामारी के लिए पूरी तरह से चीन को जिम्मेदार मानते हैं और ड्रैगन के खिलाफ सख्त कार्रवाई के मूड में है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का साफ तौर पर कहना है कि कोरोना वायरस चीन के वुहान लैब में बनाया गया है। साथ ही का कहना कि जानलेवा कोरोना वायरस चीन से आया है और अमेरिका इसे हल्के में नहीं लेने वाला है। चीन को इसकी कीमत चुकानी होगी। कोरोना के मामले पर चीन ऐसा फंसा है कि उसे इससे बचने का कोई रास्ता नहीं सूझ रहा है। अमेरिका का साफ तौर पर कहना है कि चीन को कोरोना की भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। इतना ही नहीं ट्रंप प्रशासन ने तो चीन को सबक सिखाने के लिए पूरी योजना तैयार कर ली है। अमेरिकी प्रशासन ने चीन से कोरोना की कीमत वसूलने के लिए और उसे घेरने के लिए विकल्पों की तलाश भी कर रहा है।

इतनी ही अमेरिका ने आर्थिक ही नहीं बल्कि हर मोर्चे पर चीन को घेरने की कवायद तेज कर दी है। कोरोना संक्रमण के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन में जवाबदेही तय करने के लिए प्रस्ताव पेश करने के बाद अमेरिका ने अब चीन को उइगर (Uighur) मुसलमानों के उत्पीड़न पर घेरने का खाका तैयार कर लिया है।

इतनी ही अमेरिका ने आर्थिक ही नहीं बल्कि हर मोर्चे पर चीन को घेरने की कवायद तेज कर दी है। कोरोना संक्रमण के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन में जवाबदेही तय करने के लिए प्रस्ताव पेश करने के बाद अमेरिका ने अब चीन को उइगर (Uighur) मुसलमानों के उत्पीड़न पर घेरने का खाका तैयार कर लिया है।

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने बुधवार को उइगुर मुस्लिमों का उत्पीड़न करने के जिम्मेदार चीनी अधिकारियों पर प्रतिबंध लगाने वाले कानून को भारी बहुमत से मंजूरी दे दी है। अब इस बिल को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मंजूरी के लिए व्हाइट हाउस भेजा गया है। पाकिस्तान मे अल्पसंख्यकों का जो उत्पीड़न हो रहा है उस पर किसी का ध्यान नहीं। दुनियां के मानवाधिकार आयोग भी इस केस में अंधे हो रखे है। इस बिल के लिए हुए वोटिंग में पक्ष में 413 वोट जबकि खिलाफ में केवल 1 वोट पड़ा। बिल के पास होने के बाद कई नेताओं ने कहा कि सीनेट ने इस बिल को सर्वसम्मति से पास किया है जिससे मानवाधिकारों का हनन करने पर चीन पर प्रतिबंध लगाया जा सके। रिपब्लिकन पार्टी के कुछ नेताओं ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि राष्ट्रपति ट्रंप इस बिल पर जल्द हस्ताक्षर करेंगे।

उइगुर मुस्लिमों को लेकर पारित बिल पर अमेरिका और चीन के बीच विवाद और गहराने की संभावना है। चीन जहां इसे अपने संप्रभुता का उल्लंघन बताएगा वहीं अमेरिका इसे मानवाधिकारों से जोड़कर उठाया गया कदम करार देगा। चीन और अमेरिका के बीच पहले से ही ट्रेड वॉर, साउथ चाइना सी और कोरोना वायरस को लेकर जांच पर विवाद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post

देश में तेजी से फैल रहा कोरोना संक्रमणदेश में तेजी से फैल रहा कोरोना संक्रमण

पिछले 24 घंटे में सामने आए 6700 से ज्यादा नए मामले फोटो साभर- PTI    स्वास्थ मंत्रालय द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में कोरोना के 6767 नए

रेलवे में नौकरी, 561 पदों पर हो रही बंपर भर्ती, आज है आखिरी मौकारेलवे में नौकरी, 561 पदों पर हो रही बंपर भर्ती, आज है आखिरी मौका

COVID-19INDIA-118447   |   WORLD-5,194,574 सरकारी नौकरी का बड़ा मौका निकला है दरअसल इस्ट कोस्ट रेलवे ने पैरामेडिकल स्टाफ के लिए 561 वैकेंसी निकाली हैं Indian Railway recruitment 2020: रेलवे में सरकारी नौकरी का बड़ा

इमरान खान ने भारत पर लगाया आरोपइमरान खान ने भारत पर लगाया आरोप

कहा उसकी अहंकारपूर्ण विस्तारवादी नीतियां पड़ोसियों के लिए बना खतरा नाजी विचाधारा की तरह भारत सरकार की अहंकारपूर्ण विस्तारवादी नीतियां भारत के पड़ोसियों के लिए खतरा बन रही हैं। इस्लामाबाद। पाकिस्तान